सी.एल.सी.सी. (CLCC)

CLCC means Customized, Legalized, Centralized Corruption means a Corruption which made by some very limited persons for a specific Aim through Legalized way अर्थात विशेष प्रयोजन हेतु, वैधानिक रूप से, केंद्रीकृत (अतिसीमित) व्यक्तियों द्वारा किये गये भ्रष्टाचार (आर्थिक लाभ या व्यक्तिगत लाभ) को पकड़ना नामुमकिन नहीं तो बहुत मुश्किल ज़रूर है l और ऐसे केसों में जब तक मामला उजागर होता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है या जब तक ऐसे मामलों का निपटारा होता है तब तक सम्बंधित व्यक्ति दूसरी दुनिया में जा चूका होता है l निश्चित रूप से अपवाद यहाँ भी होंगें l उदहारण स्वरुप यदि किसी को आर्थिक लाभ देना है तो सबसे पहले अतिसीमित लोगों के द्वारा आर्थिक लाभ देने की प्रक्रिया को क़ानूनी जामा पहनाया जाता है फिर उसको आर्थिक लाभ देने का काम किया जाता है l इसी प्रकार यदि किसी को व्यक्तिगत लाभ देना हो तो सबसे पहले अतिसीमित लोगों द्वारा व्यक्तिगत लाभ देने की प्रक्रिया को क़ानूनी जामा पहनाया जाता है फिर उसको व्यक्तिगत लाभ देने का काम किया जाता है l कहते हैं कि जहाँ विकास होगा वहां भ्रष्टाचार ज़रूर होगा, इससे इंकार नहीं किया जा सकता है l लेकिन हमलोग उसी को भ्रष्टाचार मानते हैं जो उजागर हो जाये या अदालत में साबित हो जाये l भारतीय राजनीति में विशेषकर चुनावों में भ्रष्टाचार एक प्रमुख राजनीतिक उत्पाद या चुनावी उत्पाद के रूप में बेचा जाता है l एक बार नहीं अनेकों बार हमने इसी के सहारे सत्ता परिवर्तन भी देखा है, इसीलिए सभी राजनीतिक लोगों या राजनीतिक पार्टियों के लिए भ्रष्टाचार नामक शब्द आज भी पहली पसंद बना हुआ है l यदि ये कहा जाये कि अमुक सरकार के समय कोई भ्रष्टाचार नहीं हुआ तो ये ख़ुश होने या सोचने का विषय न होकर शोध का विषय होना चाहिए क्योंकि देश में जो चुनावी तंत्र एवं राजनीतिक तंत्र विकसित हो चुका है उसमें भ्रष्टाचार न हो ये हो ही नहीं सकता है l शायद यह CLCC सिस्टम से किया गया भ्रष्टाचार भी एक कारण हो सकता है कि देश को आज़ादी के 70 वर्षों के बाद भी जिस मुकाम पर होना चाहिए वह वहां नहीं है l इसपर विचार ज़रूर कीजिएगा ? CLCC सिस्टम से किया गया भ्रष्टाचार किसी भी देश के लिए अंततः दुखद ही साबित होता है l भारत में स्थिति और भी भयावह हो सकती है क्योंकि यहाँ तो लगभग 95% मतदाता अपने मत का प्रयोग अपने मत (दिमाग) से करते ही नहीं हैं बल्कि दूसरे से प्रभावित होकर मतदान करते हैं या दूसरे के प्रभाव में ही मतदान करते हैं l अतः आप सभी प्रबुद्ध पाठकों से अनुरोध है कि आप चाहे जिस भी क्षेत्र से हों कृपया देशहित में विशेष रूप से आगे आने वाली पीढ़ियों के वास्ते CLCC सिस्टम से किये गए भ्रष्टाचार पर पूरी नज़र रखें एवं अपने साधन एवं संसाधन के अनुसार उसको देश के सामने लाने या उजागर करने का ज़रूर प्रयास करें l देश आपके इस कृत्य के लिए सदैव ऋणी रहेगा l
स्वाभाविक रूप से आपकी प्रतिक्रियाओं का इंतज़ार रहेगा l
अग्रिम धन्यवाद् ! जय हिन्द ...!

लेखक एवं प्रस्तुति
सुभाष वर्मा
Writer-Journalist-Social Activist
www.LoktantraLive.in
loktantralive@hotmail.com


Comments

Popular posts from this blog

ज़िन्दगी का मतलब

कुछ नहीं हो सकता

ज़िन्दगी का रंग और स्वाद